करोड़ों का बैंक घोटाला

दिनारा / रोहतास (TBN रिपोर्ट) :- बिहार में कोरोना संकट के बीच घोटाले का एक बड़ा मामला रोहतास से सामने आया है. मामले के अनुसार रोहतास जिला स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा की दिनारा शाखा से  216 लोगों ने तालमेल कर 3.70 करोड़ रुपये हड़प लिए.  इस मामले में बैंक के उप महाप्रबंधक ने लिखित शिकायत दर्ज कराई है.

मिली जानकारी के अनुसार, 216 लोगों के साथ तालमेल कर फर्जी प्रमाणपत्र व दस्तावेज के आधार पर बैंक अधिकारियों द्वारा 3.70 करोड़ रुपये के घोटाले का सनसनीखेज मामला सामने आया है. यह घोटाला रोहतास स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा की दिनारा शाखा में हुआ है.

बैंक के उप महाप्रबंधक की लिखित शिकायत के बाद सामने आए इस चौंकाने वाले मामले में आर्थिक अपराध इकाई की पटना शाखा ने प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है. घोटाले में बैंक के चार तत्कालीन अधिकारियों समेत 15 आरोपितों को नामजद किया गया है. जांच शुरू कर दी गयी है. घोटाले के बारे में बताया जा रहा है कि घोटाले की राशि बढ़ भी सकती है.

दर्ज प्राथमिकी में बैंक ऑफ बड़ौदा की दिनारा शाखा के तत्कालीन प्रबंधक प्रमोद कुमार, सुरेश प्रसाद सिन्हा, अनूप कुमार और क्रेडिट अधिकारी राजेंद्र प्रसाद तथा लाभार्थी चंद्र पासवान, सत्येंद्र पासवान, अरुण कुमार, परमहंस पांडेय, अवध किशोर पांडेय, कृष्णा पांडेय, बबन सिंह, कृष्ण बिहारी सिंह, विनोद राम, कृष्णा कुमार, शिवकुमार, देवेंद्र यादव, वीरेंद्र पाठक व अन्य को नामजद अभियुक्त बनाया गया है.

घोटाले के आरोप के अनुसार वर्ष 2015 से 2017 के बीच बैंक के तत्कालीन नामजद आरोपियों ने 216 लोगों से तालमेल कर साजिश के तहत फर्जी भू स्वामित्व प्रमाणपत्र, फर्जी मालगुजारी रसीद और फर्जी बंध दस्तावेज के आधार पर 370 लाख रुपये का कर्ज स्वीकृत कर दिया. बाद में सभी 261 लाभार्थियों ने स्वीकृत राशि बैंक से निकाल ली. इस राशि को सभी आरोपितों ने आपस में बांट लिया. आर्थिक अपराध इकाई सूत्रों के अनुसार अभी प्रारंभिक जांच में 370 लाख रुपये के घोटाले का पता चला है. लेकिन बताया जा रहा है कि घोटाले की राशि बढ़ भी सकती है.