पुलिस ने लूट की बड़ी साज़िश को किया नाकाम

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट)| पटना पुलिस ने एसटीएफ व वैशाली पुलिस के सहयोग से लूट की एक बड़ी साज़िश का खुलासा किया है. पुलिस को मिली गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर पुलिस ने कंकड़बाग स्थित बड़े प्रतिष्ठान के शो रूम में डकैती डालकर 20 लाख रुपये लूटने की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है. एसएसपी उपेंद्र शर्मा के द्वारा गठित की गई विशेष टीम ने डकैती डालने से पहले ही वैशाली के रहने वाले रोहित कुमार, सानू कुमार, अंकित कुमार, दीपक कुमार तथा अभिषेक कुमार को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने लुटेरों को बुलाने वाले और लूट की योजना बनाने वाले  मास्टरमाइंड राहुल कुमार निवासी सिपारा को भी गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इन अपराधियों के कब्जे से 2 देसी पिस्टल, 6 जिंदा कारतूस व 4 बाइक भी बरामद की है.

इस मामले की जानकारी देते हुए एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने बताया कि वैशाली पुलिस द्वारा गुप्त सूचना मिली थी कि वैशाली के अपराधियों द्वारा पटना के कंकड़बाग स्थित प्रतिष्ठान के शो रूम में शनिवार की दोपहर में डकैती डालने की साजिश रची जा रही है. लुटेरों ने साजिश को अंजाम देने के लिए शनिवार का दिन चुना क्यूकि लुटेरों को ये बात मालूम थी कि होली के त्योहार पर रविवार से बैंक का तीन दिन का अवकाश है जिसे देखते हुए शो रूम में हुए बिक्री के करीब 20 लाख रुपये डाक बंगला स्थित एक्सिस बैंक में जमा किये जाएंगे. पहले से बनाई योजना के अनुसार लुटेरे शो रूम में डकैती डालकर कैश लूटने के लिए पटना पहुंच गए.लेकिन समय रहते पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी द्वारा सिटी एसपी पूर्वी जितेंद्र कुमार के नेतृत्व में छापेमारी कर शो रूम के पास से योजना बनाते हुए 6 अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बदमाशों की तलाशी के दौरान उनके पास से 2 पिस्टल, 6 जिंदा कारतूस तथा 4 बाइक बरामद भी की हैं

लूट की इस साजिश की योजना बनाने के आरोप में पकड़ा गया राहुल कुमार प्रतिष्ठान के बोरिंग रोड स्थित शो रूम में एकाउंटेंट है. और पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किया गया अपराधी रोहित एकाउंटेंट राहुल का साला है. पुलिस ने मामले की छानबीन के दौरान अपराधियों से पूछताछ की जिसमे रोहित ने पुलिस को बताया कि राहुल ने ही शो रूम में 20 लाख कैश होने की खबर देकर दिन में एक बजे डकैती डालने के लिए पटना बुलाया था. एसएसपी के अनुसार पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किये गए अपराधियों का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है. फिलहाल अपराधियों से पूछताछ जारी है.