किसान आंदोलन खत्म होते ही केंद्र सरकार के सुर बदले

नागपुर (TBN – The Bihar Now डेस्क)| किसान आंदोलन खत्म होते ही केंद्र सरकार के सुर बदलने लगे हैं. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Central Agriculture Minister Narendra Singh Tomar) ने विवादित कानूनों को फिर से लागू करने के संकेत दिए हैं.

कृषि कानूनों (Three Farm Law) को लेकर तोमर ने कहा है कि हम बस एक कदम पीछे हटे हैं और फिर से आगे बढ़ेंगे. नरेंद्र सिंह तोमर यहां कृषि उद्योग प्रदर्शनी ‘एग्रोविजन’ (Agri industry exhibition `Agrovision’) के उद्घाटन के अवसर पर बोल रहे थे.

तोमर ने शनिवार को कहा कि हम कृषि कानून लेकर आए थे लेकिन कुछ लोगों को यह रास नहीं आया. कृषि कानून लाना 70 वर्षों की आजादी के बाद एक बड़ा रिफार्म था जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आगे बढ़ रहा था.

उन्होंने कहा, “लेकिन सरकार निराश नहीं है. हम एक कदम पीछे हटे हैं. लेकिन आगे फिर बढ़ेंगे क्योंकि हिंदुस्तान का किसान ही हिंदुस्तान की बैकबोन है. और अगर बैकबोन मजबूत होगी तो निश्चित रूप से देश मजबूत होगा”.

बता दें, कृषि मंत्री की टिप्पणी केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में किसान संघों द्वारा साल भर के आंदोलन के मद्देनजर तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त करने के फैसले के बाद आई है. तीन विवादित कृषि कानूनों को संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन 29 नवंबर को लोकसभा और राज्यसभा ने बिना किसी चर्चा के निरस्त करने वाला विधेयक पारित कर दिया था.

बताते चलें, केंद्र सरकार द्वारा उनकी अधिकांश मांगों को स्वीकार करते हुए एक आधिकारिक पत्र भेजे जाने के बाद, प्रदर्शनकारी किसानों ने इस महीने की शुरुआत में अपना साल भर का विरोध प्रदर्शन वापस ले लिया.

सत्तारूढ़ सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर एक समिति बनाने और उनके खिलाफ दर्ज सभी मामलों को तत्काल प्रभाव से वापस लेने का वादा करने के बाद किसानों ने अपना विरोध बंद कर दिया. किसान तीन कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले साल नवंबर से धरने पर थे.