फिर छिपे मिले 7 वि’देशी नागरिक, इस बार फुलवारी’शरीफ के एक म’स्जिद में

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए देशभर में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है. इसके चलते सभी राज्यों में कोरोना से बचाव और सुरक्षा की दृष्टि से प्रशासन सक्रीय हो गया है. पिछले दिनों बिहार की राजधानी पटना में स्थित एक मस्जिद में विदेशियों को छिपाने का मामला सामने आया था जिसमे राजधानी के भीड़भाड़ वाले इलाके कुर्जी में गेट नं 74 के पास स्थित एक मस्जिद में 12 विदेशी लोगों को छिपाकर रखा गया था. ताज़ा खबर के अनुसार एक बार फिर से बिहार पुलिस की सतर्कता के चलते पटना में 7 विदेशी नागरिकों को मस्जिद से पकड़कर, कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए पटना एम्स में भेज दिया गया है.

कोरोना के चलते लॉकडाउन की वजह से बिहार पुलिस दल बड़े चौकन्ने हो गए. मामले के बारे में जानकारी देते हुए थानेदार रफिकुर रहमान ने बताया कि “फुलवारीशरीफ थाना के शाही संगी मस्जिद में संदिग्ध लोगों की छिपे होने की जानकारी मिली थी. जिसके बाद पुलिस ने कार्यवाई करते हुए 7 विदेशी नागरिकों को पकड़ा है. कोरोना के खतरे के चलते सभी नागरिकों को एम्स ने जांच के बाद निगरानी में रखने को कहा है. जहाँ से विदेशी नागरिकों को पकड़ा गया है उस इलाके को अलर्ट पर रखा गया है. विदेशी नागरिकों के बारे फिलहाल जो जानकारी निकलकर आयी है उसके अनुसार ये सभी लोग धार्मिक प्रचार के लिए बिहार में आए थे. पुलिस विदेशी नागरिकों से आगे की पूछताछ करके इनके आने के मकसद और इनके देश के बारे और जानकारी जुटाएगी फिलहाल ये सभी किस किस देश के रहने वाले है ये पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो पाया है”.

पटना से 12 विदेशी गिरफ्तार, पुलिस जांच में जुटी, सबों का स्वास्थ्य जांच भी

ज्ञात हो 23 मार्च को भी राजधानी पटना के बिहटा थाना क्षेत्र की एक मस्जिद में छिपे हुए 12 विदेशी नागरिकों को पुलिस ने हिरासत में लिया था. जिसमे से दस लोग किर्गिस्तान के निवासी थे और बाकी दो लोग गाइड थे. जानकारी के मुताबिक धार्मिक स्थल में छिपे लोग बिहार में घूम-घूमकर धर्म विशेष का प्रचार करते हैं.