जम्मू-कश्मीर: भगदड़ की घटना के बाद कटरा में माता वैष्णो देवी मंदिर में पंजीकरण फिर से शुरू

कटरा / जम्मू-कश्मीर (TBN – The Bihar Now डेस्क)| भगदड़ की घटना के कुछ घंटों बाद कटरा में माता वैष्णो देवी भवन में पंजीकरण फिर से शुरू (Registration at Mata Vaishno Devi Bhawan in Katra resumed) हो गया. आज अहले सुबह हुए इस भगदड़ 12 लोग मारे गए और कई अन्य घायल हो गए.

घटना के बाद पवित्र मंदिर की यात्रा (तीर्थयात्रा) थोड़ी देर के लिए स्थगित कर दी गई थी. घटना शनिवार तड़के करीब 2:45 बजे हुई और शुरुआती रिपोर्टों के अनुसार, एक बहस छिड़ गई, जिसके परिणामस्वरूप लोगों ने एक-दूसरे को धक्का दिया, जिसके बाद भगदड़ मच गई.

जम्मू और कश्मीर पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह (ammu and Kashmir Police chief Dilbagh Singh) ने न्यूज एजेंसी को बताया कि आज सुबह त्रिकुटा पहाड़ियों पर स्थित मंदिर में भगदड़ में कुल 12 लोगों की मौत हो गई और 13 अन्य घायल हो गए. नववर्ष के दिन श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के कारण भगदड़ मच गई. घायलों को माता वैष्णो देवी नारायण सुपरस्पेशलिटी अस्पताल (Mata Vaishno Devi Narayana Superspeciality Hospital) सहित विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. कई घायलों की हालत “गंभीर” बताई गई है.

यह भी पढ़ें| दुखद: माता वैष्णो देवी भवन में भगदड़, 12 की मौत, 8 मृतकों की हुई पहचान

माता वैष्णो देवी की गुफा मंदिर रियासी जिले (Reasi district) में 5,200 फीट की ऊंचाई पर स्थित है और आम तौर पर हर साल करीब दस लाख भक्त दर्शन के लिए आते हैं.

तीर्थ स्थल का संचालन वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड (Vaishno Devi Shrine Board) द्वारा किया जाता है, जो तीर्थयात्रियों को दर्शन के लिए त्रिकुटा पहाड़ियों (Trikuta hills) की चोटी तक पहुंचने के लिए बैटरी कार और रोपवे सेवाएं प्रदान करता है.

यह भी पढ़ें| माता वैष्णो देवी भवन में भगदड़ पर पीएम ने जताया दुख, मृतकों के परिजन को दो-दो लाख रुपये की घोषणा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना पर दुख व्यक्त (Prime Minister Narendra Modi expressed grief at the incident) किया और मारे गए लोगों के परिवारों के लिए अनुग्रह राशि की घोषणा की.

पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के कटरा में माता वैष्णो देवी भवन में भगदड़ में जान गंवाने वालों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (Prime Minister National Relief Fund) से 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की. प्रधान मंत्री ने कहा, घायलों को 50,000 रुपये दिए जाएंगे. जम्मू और कश्मीर एलजी (Jammu and Kashmir LG) ने भी मरने वालों के परिजनों के लिए 10 लाख रुपये और घायलों के लिए 2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि की भी घोषणा की.